Skip to main content

Posts

Showing posts from January, 2010

पत्रकार द्वारा दलित पत्रकार का उत्पीडन

उपरोक्त शीर्षक देखकर आपको आश्चर्य लग रहा होगा परन्तु यह सोलहो आने सच है. यह घटना है "स्पीड मीडिया ग्रुप "(६,स्कूल लेन, बाबर रोड ,होटल ललित के सामने , नई दिल्ली-१) के दफ्तर का . २७ जनवरी को मेरे संपादक सुनील सौरभ ने मुझे अपने कार्यालय के अन्दर और बाहर अपने वेतन मांगने पर मेरे ऊपर हाथ छोर दिया तथा मेरे माँ को भी गन्दी गलियां दी .एक अन्य सहकर्मी के बीचबचाव करने पर मुझे अगले दिन यानी २८ जनवरी को ४ बजे दोपहर बुलाया गया. सामंती विचारधारा एवं दूसरों को अपमानित करने की मानसिकता के धनी सुनील सौरभ ने हद की सीमा पर कर देने का अनोखा मिशाल कायम किया. मुझे सर्वप्रथम अपने दफ्तर के केबिन में छित्किनी बंदकर मारा पीटा और कमीने खटीक की हरामी औलाद नामक गन्दी गाली दी साथ ही यह भी कहा की हरिजन सालों को संस्कार कहाँ से आएगा? २७ जवारी की घटना को भी मैंने बर्दास्त किया था परन्तु २८ जनवरी की घटना को मैं जिंदगी भर नहीं भूल पाउँगा. अपने साथ हुए मानसिक, शारीरिक और आर्थिक उत्पीरण से मैं काफी डर गया हूँ .आश्चर्य का विषय यह रहा कि मेरे सहकर्मियों ने भी अपने नौकरी को महत्व दिया औत कोइ प्रतिकार नहीं किया…

लाखों की साईकल और फोल्डिंग साईकल

विदेशी साईकिल आयातक कंपनी फायरफौक्स का स्टाल प्रगति मैदान का मुख्य आकर्षण है क्योंकि इनके स्टाल पर लाखों की साईकल और फोल्डिंग साईकल मिलती है | ऑटो ज़ोन स्पीड के मुख्य प्रतिनिधि गोपाल प्रसाद से कंपनी के मैनेजिंग डायरेक्टर शिव इंदर सिंह की बातचीत के मुख्य अंश:
*ऐसी क्या खासियत है की आपकी साईकिल इतनी महँगी है?
मुख्य अंतर टेक्नोलोजी का है. आज के जागरूक बच्चे इन्टरनेट पर हर नयी तकनीक का अवलोकन कर रहे होते है. ऐसी स्थिति में वे चाहते है की अत्याधुनिक तकनीक की साईकिल भारत में मिले और हमने उसी कमी को पूरा किया है .इन्टरनेट यूजर बच्चे ही हमारे ग्राहक बनाते हैं. साईकिल इंडस्ट्री में तकनीक का महत्त्व है . प्राईस लेबल पर हमारा मार्केट अलग है हमारा ध्यान इन्ज्वायमेंट, स्वास्थ्य तथा भारतीय तकनीक में सर्वोच्च अंतर्राष्ट्रीय मानकों का ख्याल रखना है .
*आपकी मार्केटिंग रणनीति क्या है?
मार्केट बदल रही है . आम डीलर को फ्रेंचाईजी नहीं देते उनका अपना शोरूम होना चाहिए . मर्सीडीज को एम्बेसडर के शोरूम से नहीं बेच सकते .
*सरकार से साईकिल उद्योग को क्या सहयोग मिल रही है?
सरकार साईकिल इंडस्ट्री के प्रति गं…