Skip to main content

Posts

Showing posts from 2013

मौलिक भारत ने लिया‘मतदाता जागरूकता अभियान’ प्रारंभ करने का संकल्प

राजनीतिक दलों में लोकतंत्र लाए बिना विधानसभा व संसद में लोकतंत्र की अपेक्षा नहीं की जा सकती है। जनजागृति के लोकतांत्रिक माध्यम से जनमत को तैयार कर व्यवस्था में व्यापक बदलाव का रास्ता अपनाया जा सकता है। मतदाता के रूप में अपने कर्तव्य व उत्तरदायित्व को समझाने के ध्येय के साथ अधिकतम लोगों को जागृत व सक्रिय करने हेतु सामाजिक संस्था "मौलिक भारत" ने कई संस्थाओं के साथ मिलकर ‘मतदाता जागरूकता अभियान’ प्रारंभ करने का संकल्प लिया है। लोकतंत्र की स्थापना व राजनीति को लोकनीति में बदलने हेतु सबसे आवश्यक है धोखतंत्र पर प्रहार। इसी भ्रम को समाप्त कर ही लोकतंत्र को वास्तविक अर्थों में स्थापित करने की प्रक्रिया प्रारंभ की जा सकती है।मौलिक भारत ने इस हेतु कुछ महत्वपूर्ण बिषयों को अपने जनजागरण का आधार बनाया है. मौलिक भारत संस्था के राष्ट्रीय संयोजक अनुज अग्रवाल के अनुसार मतदाताओं के लिए हेल्पलाइन/काल सेंटर का निर्माण,दिल्ली एवं देश भर में मतदाता सूची में करोड़ों फर्जी नामों को हटवाना, करोड़ों लोग जिनके नाम मतदाता सूची में नहीं हैं उनके नाम शामिल करवाना, मतदान करने क…

RTI Query by GOPAL PRASAD about movable/immovable properties of Indian Administrative Officers and Central Ministers

In reply of RTI Query about movable/immovable properties declared by all the officers of Indian Administrative Service ( IAS,IPS, IRS, IFS ), Chief Commissioner of Income Tax (CCA) is concerned with the details of IRS Officers only. The Details of movable /immovable properties as declared by all the IRS Officers is available on the website "www.irsofficersonline.gov.in". Thus the information sought by the applicant is in respect of information which is already available in public domain and the applicant is advised to refer "view IPR" on the departmental website www.irsofficeronline.gov.in . The CIC vide decision contained in F. No. CIC/AT/2006/00336 Dated 25.1.2006 has inter alia, held that once the information is in the public Domain , It cannot be said to be 'held' by the given public authority , It is not open to the appealant to ask the public authority to seek details or explain the procedures to him no obligation on PIO to provide such information i…

सूचना का अधिकार कानून को कमजोर करनेवाले राहुल सोनिया से जनता अनभिज्ञ : गोपाल प्रसाद

सूचना का अधिकार कानून (RTI) कानून 12 अक्टूबर, 2005 को लागू हुआ था . इस कानून कि धारा- 4 के तहत 6 महीने के अंदर ही सभी सरकारी विभागों को अपने विभाग की सभी सूचनाएं अपने वेबसाइट पर डालना था , परन्तु 6 महीने की जगह 8 बर्ष बीत जाने पर भी सभी सरकारी विभागों ने इस अनिवार्य विषय का पालन नहीं किया . केन्दीय सूचना आयोग एवं सभी प्रदेशों में सूचना आयुक्तों के निर्धारित पदों पर नियुक्ति ना होना , अधूरे- गलत व समय पर सूचना नहीं देने के कारण जनसूचना अधिकारियों पर लगे दंड की वसूली ना होना, आरटीआई आवेदकों को समय पर सूचना नहीं मिलने कि स्थिति में बढ़ाते अपील आवेदनों का निपटारा न होना , जनसूचना अधिकारियों को आरटीआई सेल हेतु पर्याप्त सुविधाएं एवं कर्मचारी मुहैया ना कराए जेन के पीछे यूपीए सरकार के असली रहनुमा सोनिया गांधी एवं राहुल गांधी की सोची-समझी साजिश है. वास्तव में आरटीआई को सशक्त करने तथा उसे पूर्ण अधिकार संपन्न बनाने की इनकी कोई मंशा नहीं है , क्योंकि इससे सरकारों की कलाई खुल जाएगी . सभी जांच एजेंसियों पर प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष अंकुश लगाकर शासन एवं प्रशासन कि पारदर्शिता , शुचिता को ख़त्म …

Documentary film based on murder of RTI Activists

We have decided to make a Documentary film based on murder of RTI Activists so far . We expect your full support and feedback for this cause.You are requested to provide me contact details of RTI Activists family member who are murdered so far. 1. Preparing a list of possible persons who are murdered or assaulted. 2. Preparing a 2 page over all story about the person who is dead or assaulted. 3. Finding about his family and friends and their contact no. 4. Finding an eye witness.(if there is any, we will prefer the incidents with eye witnesses ). 5. Finding about other activists who can talk about them and who are familiar with them. 6. Preparing a list of the prominent persons related to the subject for interview. 7. Finding contact detail of the known personalities whom we are going to interview like Anna Hazare, Arvind kejriwal, Aruna roy, Narayan swami, CVC of India etc and helping us to getting an appointment for the same. 8. To find out about the seminars or any meeting happe…

LETTER TO RSS CHIEF BY RTI ACTIVIST GOPAL PRASAD

अमेठी दिनांक-14.08.2013 परमादरणीय मोहन भागवतजी, सादर प्रणाम! हलाँकि आप मुझसे अपरिचित हैं परंतु मैं क्या कोई भी हिंदू और खासकर स्वयंसेवक आपसे बिना मिले भी परिचित ही होगा। काफी दिनां से वैचारिक द्वन्द में चल रहा था। वर्तमान परिस्थितियों में हिदुत्व को घेरने की साजिश से जैसे-जैसे अवगत हुआ, मेरा मन अपने तुच्छ विचार को कलमवद्ध कर आप तक प्रेषित करने हेतु विवश हो गया। आप तक इसलिए क्योंकि मुझे आप ही वे व्यक्ति लगे जहां से मुझे आशा की किरण दिखाई दी। आपकी दूरदर्शिता वैचारिक सोंच प्रखरता और बेवाकी का मुक्तकंठ प्रशंसक रहा। मैं विद्यार्थी जीवन में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) से जुड़ा रहा एवं वर्तमान मं अखिल भारतीय साहित्य परिषद से जुड़ा हूँ। इसी के माध्यम से आपको जानने समझने एवं सुनने का अवसर प्राप्त हो पाया। मुझ जैसे अज्ञानी को साहित्य एवं संस्था के माध्यस से हिन्दुत्व, राष्ट्रधर्म, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, वर्तमान समस्या एवं समाधान का जो भी ज्ञान प्राप्त हुआ उसका जीवन …

Activists criticise govt, parties for change in RTI Act

New Delhi, Aug 2 (UNI) Social and RTI activists today slammed the government and political parties for their move to amend the Right To Information Act to keep political parties out of the purview of transparency law. The government yesterday obtained the Cabinet approval to amend RTI Act to keep political parties out of the purview of Act. The Central Information Commission (CIC) had in a ruling in June said six national parties- the BJP, the Congress, NCP, BSP, CPI and CPI(M) had the character of a public authority under the Right to Information Act so they were required to appoint public information officers. Noted RTI activist Subhash Chandra Agrawal said if the government moved to keep political parties out of purview of the RTI Act, then the parties should withdraw all the government facilities. ''Morality and ethics (which do not exist in political community) demand that bill to keep political parties out of purview of RTI Act must be pre-conditioned that they will ha…

RTI Activist Gopal Prasad Appeal to you

New Delhi 5th August, 2013. Dear Friends, Jai Bharat ! Having been involved in exposing corruption through RTI for last 3 years, I have long worked for positive change in India. Now I feel that the time has come for me to seek elected offices. I want to bring fresh idea and positive change to end the corruption in India through changing political system by running the Lok-Sabha election from “ Amethi” a place in UP . I think India is not a democratic country but a kingdom run by a foreigner and irrigating the corruption. Probably you know that I have always been concerned about corruption which is responsible for all ills in India. I believe that there are workable solutions available that will enhance Indian political system and minimize the corruption. We all would like to see a corruption free India and will do together. In order to serve the people of India I must conduct an aggressive campaign. My opponent in “Amethi” are well known and established corrupt …

Gopal Prasad Will Create Positive Change in Political System via Amethi Parliamentary Election

New Delhi


                                                                                                                 25th July, 2013.

Dear Friends,

Jai Bharat !

Having been involved in exposing corruption through RTI for last 3 years, I have long worked for positive change in India. Now I feel that the time has come for me to seek elected offices. I want to bring fresh idea and positive change to end the corruption in India through changing political system by running the Lok-Sabha election from “ Amethi” a place in UP .

I think India is not a democratic country but a kingdom run by a foreigner and irrigating the corruption.

Probably you know that I have always been concerned about corruption which is responsible for all ills in India. I believe that there are workable solutions available that will enhance Indian political system and minimize the corruption. We al…

अमेठी लोकसभा क्षेत्र (37) से राहुल गांधी के विरुद्ध चुनौती देगे गोपाल प्रसाद आरटीआई एक्टिविस्ट

सेवा में ,                                       दिनांक : 23.04.2013          डा. लक्ष्मीकान्त वाजपेयी
        उत्तरप्रदेश भाजपा अध्यक्ष         लखनऊ बिषय : अमेठी लोकसभा क्षेत्र (37) से भाजपा प्रत्याशी बनाए जाने हेतु अनुरोध .
...............................................................................................
महोदय ,
            मैं गोपाल प्रसाद भाजपा का निष्ठावान कार्यकर्ता हूँ . विद्यार्थी जीवन के महाविद्यालय अध्ययन काल (1987-1993) में दरभंगा (बिहार) में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् (ABVP) से जुडा रहा हूँ . राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की साहित्यिक आनुषांगिक संगठन "अखिल भारतीय साहित्य परिषद् " से जुडा हूँ . विगत 13 बर्षों से दिल्ली में स्वतंत्र पत्रकारिता करते हुए भ्रष्टाचार के विरुद्ध आधार तैयार करने एवं पारदर्शिता कायम करने हेतु सूचना का अधिकार ( RTI ) का समाजहित एवं राष्ट्रहित में सर्वाधिक प्रयोग करनेवाला आरटीआई एक्टिविस्ट हूँ .
                    भय,भूख और भ्रष्टाचार के विरुद्ध जनमानस को उद्वेलित करना सुशासन के रूप में भाजपा को बेहतर तरीके से प्रस…

सामाजिक परिवर्तन हेतु अमेठी एवं रायबरेली में आरटीआई प्रशिक्षण शिविर चलाएंगे दिल्ली के आरटीआई एक्टिविस्ट गोपाल प्रसाद

.............................................................................................

राष्ट्रीय समस्या समाधान सुझाव परिषद्  के संयोजक एवं दिल्ली के आरटीआई एक्टिविस्ट गोपाल प्रसाद  ने 11अप्रैल,2013 से आगामी लोकसभा चुनाव तक अमेठी एवं रायबरेली के विभिन्न इलाकों में आरटीआई के श्रृंखलावद्ध  प्रशिक्षण शिविर आयोजित करने की घोषणा की है. उनका कहना है की भ्रष्टाचार आज चरम सीमा पर पहुँच चुका है. देश एवं प्रदेश की विभिन्न जाँच एजेंसियां राजनैतिक गुलामी की शिकार है. पारदर्शिता की उपेक्षा एवं भ्रष्टाचार के विरुद्ध आवाज उठानेवालों के साथ बदसलूकी की जा रही है, धमकी दी जा रही है तथा उनकी  हत्या  भी की जा  रही है.
     वास्तव में देश के नागरिकों को अंग्रेजों की गुलामी से तो मुक्ति मिल चुकी है , पर उसके बाद भी हमें वास्तविक रूप से आजादी नहीं मिल पाई है. आज भ्रष्ट व्यवस्था की गुलामी में हमलोग जी रहें हैं . देश के कुछ औद्योगिक घराने तो राजनीतिज्ञों एवं अफसरशाहों को भ्रष्ट बनाने में घोर प्रतिस्पर्धा कर रहे हैं . देश की समस्याएं बढ़ती ही जा रही है परन्तु उसका समाधान प्रधानमंत्री बनने का सपन…

तिरंगे और संविधान का हो दिल से सम्मान ! : गोपाल प्रसाद

प्रधान मंत्री जी ! पिछले 60 साल से हर साल 26 जनवरी को हमारे देश में गणतंत्र  दिवस मनाया जाता है। ये किस लिए और क्यों मनाया जाता है, मैं आज तक नहीं समझ पाया। हर साल दिखावे के लिए सेना के सारे अस्त्र  और शस्त्र  का  प्रदर्शन किया जाता है .  हमारे अदने  से  पड़ोसी मुल्क पाक ने  पिछले 64 साल(1948 से अब तक) से हमारे नाक में दम कर रखा है .हमारी 78000 वर्ग किलोमीटर  जमीन पर कब्ज़ा है। विशेष तौर पर 1971 के लड़ाई  में बांगलादेश बनने के बाद उसका मकसद देश को अस्थिर करना है और वो अपने मकसद में कुछ हद तक कामयाब रहा है . चाहे 26/11का मुंबई हमला हो चाहे कारगिल हो।  सीधे युद्ध  में तो वो भारत से मुकाबला नहीं कर सकता  मगर इस छद्म /अघोषित युद्ध में वो भारत का सिरदर्द बनकर चुनौती  दे रहा है। उसके  हौसले  इतने  बढ़ गए  है  कि  संसद पर हमले  की भी जुर्रत कर दी,  मगर हम कुछ न  कर सके । पीओके से  उग्रवाद के ट्रेनिंग कैंप चला  रहा है। हम सब जानते हैं , मगर कुछ नहीं कर सकते और  अपनी  साख नहीं बचा पा रहे  हैं। हमें अमेरिका का मुंह देखना पड़ता है। संसद पर हमला होता है और ये गणतंत्र सम्प्रुभूता संपन्न देश कुछ नह…